Parents serve – माता पिता की सेवा करें

माता पिता की सेवा करें

जिस के होने से मैं खुदको मुक्कम्मल मानता हूँ,
मेरे रब के बाद मैं बस अपने माँ-बाप को जानता हूँ।

माँ बाप का दिल जीत लो कामयाब हो जाओगे,
वरना सारी दुनिया जीत कर भी हार जाओगे।

माता पिता के बिना दुनिया की हर चीज कोरी हैं,
दुनिया का सबसे सुंदर संगीत माँ की लोरी हैं।

माता पिता की सेवा करें

पेड़ बूढ़ा ही सही, आँगन म लगा रहने दो फल न सही, छाब तो देगा ही

मेरी दुनिया में इतनी जो शौहरत हैं,
मेरी माता पिता की बदौलत हैं।

ना ज़रूरत उसे पूजा और पाठ की,
जिसने सेवा करी अपनी माँ-बाप की।

घेर लेने को मुझे जब भी बलाएँ आ गईं,
ढाल बन कर सामने माँ-बाप की दुआएँ आ गईं।

टुकड़ों में बिखरा हुआ किसी का जिगर दिखाएँगे,
कभी आना भूखे सोए बच्चों के माँ बाप से मिलाएँगे।

घर आके माँ-बाप बहुत रोये अकेले में,
मिट्टी के खिलौने भी सस्ते ना थे मेले में।

माँ बाप का हाथ पकड़कर रखिये,
लोगो के पांव पकड़ने की जरूरत नही पड़ेगी।

जिस घर में ‎माँ-बाप की कदर नहीं होती,
उस घर में कभी बरकत नहीं होती।

माँ-बाप के लिए क्या ‪शेर लिखूं,
माँ-बाप ने ‪मुझे खुद शेर बनाया हैं।

हर इंसान अपनी चाहत को चाहता हैं,
पत्नी को प्यार करता हैं, लेकिन माँ-बाप को पूजता हैं।

मेरे बच्चे तुझे और क्या चाहिए,
बूढ़े माँ बाप ने तुझको अपनी जवानी दी हैं।

औलाद को इंसान बनाने की फिक्र में,
माँ बाप को मरने की भी फुर्सत नहीं मिली।

किसी का दिल तोड़ना आज तक नही आया मुझे,
प्यार करना जो अपने ‪माता-पिता से सीखा हैं मैंने।

माँ और पिता ऐसे होते हैं, जिनके होने का एहसास कभी नहीं होता
लेकिन ना होने का एहसास बहुत होता हैं।

इस दुनिया में बिना स्वार्थ के सिर्फ माता पिता ही प्यार कर सकते हैं।

आकाश के देवताओं की पूजा करने से पूर्व अपने माता-पिता की पूजा करो।

बंद किस्मत के लिये कोई ताली नही होती, सुखी उम्मीदों की कोई डाली नही होती।
जो झुक जाए माँ – बाप के चरणों में, उसकी झोली कभी खाली नही होती।

जिस दिन तुम्हारे कारण माँ बाप की आँखों में आँसू आते हैं,
याद रखना उस दिन तुम्हारा किया सारा धर्म कर्म आँसुओ में बह जाते हैं।

जब भी अपनी ताकत पर गुरुर हो, एक फेरा वृद्धा आश्रम का लगा लेना,
और जब भी आपका सिर श्रद्धा से झुका हो, अपने माता पिता के पैर जरूर दबा देना।

जिन मूर्तियों को इंसान बनाते हैं, हम उनकी तो पूजा करते हैं,
पर जिन्होंने हमें बनाया है हम उन माता-पिता की पूजा क्यूँ नहीं करते।

मुझे इतनी “फुर्सत” कहाँ कि मैं तकदीर का लिखा देखुँ,
बस अपनी माँ-पिता की ”मुस्कुराहट” देख कर समझ जाता हुँ की “मेरी तकदीर” बुलँद हैं।

Quotes of Life in Hindi | जिंदगी तो उसकी है जिसकी मौत पे जमाना अफसोस करे

Share Your Bhajan
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

eighteen + seventeen =