जिनके रोम-रोम मैं शिव हैं बही विष पिया करते हैं Best Shiv Quotes at bhajan sagar

जिनके रोम-रोम मैं शिव हैं बही विष पिया करते हैं Best Shiv Quotes at bhajan sagar

भगवन भोलेनाथ इस समस्त संसार का कल्याण करने बाले हैं जो भी इनके नाम की महिमा का बखान करता है उसका खुद ही पापों का नाश हो जाता है

ना पूछो मुझसे मेरी पहचान, मैं तो भस्मधारी हूँ,
भस्म से होता जिनका श्रृंगार, मैं उस भोलेनाथ का पुजारी हूँ।

जब ज़माना मुश्किल में दाल देता हैं,
तब मेरे भोले हज़ारों रास्ते निकाल देता हैं।

किस्मत लिखने वाले को भगवान कहते हैं,
और बदलने वाले को भोलेनाथ कहते हैं।

नाच रहे ड़मरू की ताल पर शिवशंम्भु,
त्रिशुलधारी गंगाधर बाबा महाकाल सर्वेशु।

शव हूँ मैं भी शिव बिना, शव में शिव का वास,
शिव मेरे आराध्य हैं, मैं हूँ शिव का दास ॥

ना जीने की खुशी, ना मौत का गम,
जब तक हैं दम, महादेव के भक्त रहेंगे हम।

जिनके रोम-रोम में शिव हैं, वहीं विष पिया करते हैं,
जमाना उन्हें क्या जलायेंगा, जो श्रृंगार ही अंगार से करते हैं।

कोई दौलत का दीवाना, कोई शोहरत का दीवाना,
शीशे सा मेरा दिल, मैं तो सिर्फ महादेव का दीवाना।

बाबा महाकाल के भक्त हैं, हर हाल में मस्त हैं
जिंदगी एक धुँआ हैं, इसलिए हम चिलम मैं मस्त हैं।

जिनके रोम-रोम मैं शिव हैं बही विष पिया करते हैं,

जमाना उन्हें क्या जलाएगा जो श्रृंगार ही अंगार से किया करते हैं

मस्तक सोहे ‪चन्द्रमा‬, गंग ‪‎जटा‬ के बीच,
श्रद्धा‬ से ‪‎शिवलिंग‬ को, निर्मल जल मन से सीच।

ॐ नाम: शिवाय का रोजाना जाप करें

सभी भक्त एक लाइक जरुर करें – https://www.facebook.com/bhajansaagar/

Peaceful Namoh Namoh Shiv Bhajan Online by Daler Mehndi Free mp3

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

19 + eighteen =